Status & Quotes

Lohri Festival 2019 : History, Quotes & Wishes SMS in Hindi

आप सभी को लोहड़ी की हार्दिक सुभकामनाये। आज आपको मैं इस लेख में लोहड़ी के इतिहास के बारे में बताऊगा की लोहड़ी पर्व मनाने के पीछे असली कारण क्या है! और लोहड़ी पर्व के लिए लोहड़ी कविता, ओर Lohri Wishes Message भी शेयर करुगा जिनको आप यहां से Copy करके अपने दोस्तों के साथ व्हाट्सएप्प, फेसबुक पे शेयर कर सकते है।

लोहड़ी के बारे में :- ( About Lohri in Hindi )

लोहड़ी उत्तर भारत का एक प्रसिद्ध त्योहार है। यह मकर संक्रान्ति के एक दिन पहले मनाया जाता है। मकर संक्रान्ति की पूर्वसंध्या पर इस त्यौहार का उल्लास रहता है। रात्रि में खुले स्थान में परिवार और आस-पड़ोस के लोग मिलकर आग के किनारे घेरा बना कर बैठते हैं। इस समय रेवड़ी मूंगफली लावा आदि खाए जाते है!

लोहड़ी का इतिहास ( History Of Lohri Festival )

लोहड़ी पौष के अंतिम दिन, सूर्यास्त के बाद ( माघ संक्रांति से पहली रात) यह पर्व मनाया जाता है। यह प्राय: 13 या 14 जनवरी को पड़ता है। यह मुख्यत: पंजाब का पर्व है, यह द्योतार्थक (एक्रॉस्टिक) शब्द लोहड़ी की पूजा के समय व्यवहृत होने वाली वस्तुओं के द्योतक वर्णों का समुच्चय जान पड़ता है, जिसमें ल (लकड़ी) +ओह (गोहा = सूखे उपले) +ड़ी (रेवड़ी) = ‘लोहड़ी’ के प्रतीक हैं। श्वतुर्यज्ञ का अनुष्ठान मकर संक्रांति पर होता था, संभवत: लोहड़ी उसी का अवशेष है। पूस-माघ की कड़कड़ाती सर्दी से बचने के लिए आग भी सहायक सिद्ध होती है-यही व्यावहारिक आवश्यकता ‘लोहड़ी’ को मौसमी पर्व का स्थान देती है।

लोहड़ी से संबद्ध परंपराओं एवं रीति-रिवाजों से ज्ञात होता है कि प्रागैतिहासिक गाथाएँ भी इससे जुड़ गई हैं। दक्ष प्रजापति की पुत्री सती के योगाग्नि-दहन की याद में ही यह अग्नि जलाई जाती है। इस अवसर पर विवाहिता पुत्रियों को माँ के घर से ‘त्योहार’ (वस्त्र, मिठाई, रेवड़ी, फलादि) भेजा जाता है। यज्ञ के समय अपने जामाता शिव का भाग न निकालने का दक्ष प्रजापति का प्रायश्चित्त ही इसमें दिखाई पड़ता है। उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में ‘खिचड़वार’ और दक्षिण भारत के ‘पोंगल’ पर भी-जो ‘लोहड़ी’ के समीप ही मनाए जाते हैं-बेटियों को भेंट जाती है।

लोहड़ी से २०-२५ दिन पहले ही बालक एवं बालिकाएँ ‘लोहड़ी’ के लोकगीत गाकर लकड़ी और उपले इकट्ठे करते हैं। संचित सामग्री से चौराहे या मुहल्ले के किसी खुले स्थान पर आग जलाई जाती है। मुहल्ले या गाँव भर के लोग अग्नि के चारों ओर आसन जमा लेते हैं। घर और व्यवसाय के कामकाज से निपटकर प्रत्येक परिवार अग्नि की परिक्रमा करता है। रेवड़ी (और कहीं कहीं मक्की के भुने दाने) अग्नि की भेंट किए जाते हैं तथा ये ही चीजें प्रसाद के रूप में सभी उपस्थित लोगों को बाँटी जाती हैं। घर लौटते समय ‘लोहड़ी’ में से दो चार दहकते कोयले, प्रसाद के रूप में, घर पर लाने की प्रथा भी है।

जिन परिवारों में लड़के का विवाह होता है अथवा जिन्हें पुत्र प्राप्ति होती है, उनसे पैसे लेकर मुहल्ले या गाँव भर में बच्चे ही बराबर बराबर रेवड़ी बाँटते हैं। लोहड़ी के दिन या उससे दो चार दिन पूर्व बालक बालिकाएँ बाजारों में दुकानदारों तथा पथिकों से ‘मोहमाया’ या महामाई (लोहड़ी का ही दूसरा नाम) के पैसे माँगते हैं, इनसे लकड़ी एवं रेवड़ी खरीदकर सामूहिक लोहड़ी में प्रयुक्त करते हैं।Q

lohri Qutoes Wishes Message 2019:

  1. याद रखा करो दिल में हमारी;चाहे रखा करो थोड़ी दोस्तों;हमने आपको पहले विश करना है;हमारी तरफ से हैप्पी लोहड़ी दोस्तों।हैप्पी लोहड़ी!

  2. फिर आ गई भंगड़े की बारी;लोहड़ी मनाने की करो तैयारी;आग के पास सब आओ;सुंदर-मुंदरिये जोर से गाओ; लोहड़ी की शुभकामनाएं.

  3. सर्दी की थरथराहट में;मूंगफली, रेवड़ी और गुड़ की मिठास के साथ;लोहड़ी मुबारक हो प्यार, दोस्ती और हर रिश्ते की गर्माहट के साथ। लोहड़ी की शुभकामनाएं

  4. याद रखा करो दिल में हमारी;चाहे रखा करो थोड़ी दोस्तों;हमने आपको पहले विश करना है;हमारी तरफ से हैप्पी लोहड़ी दोस्तों।हैप्पी लोहड़ी

  5. लोहड़ी की आग आपके दुखों को जला दे;और आग की रौशनी आपकी ज़िंदगी में उजाला भर दे।लोहड़ी की शुभकामनाएं

  6. मिट्ठे गुड़ दे विच मिल गिया तिल;उड्डी पतंग ते खिल गिया दिल;हर पल सुख ते हर दिन शांति पाओ;रब अग्गे दुआ;तुसी लोहड़ी ख़ुशियाँ नाल मनाओ!हैप्पी लोहड़ी!

Lohri Wishes Message :

  • Hum aap ke dil me rehte hai, isliye har gum sehte hai, koi hum se pehle na keh de aap ko, isliye 1 din pehle hi aap ko ” HAPPY LORRY “Kehte hai

  • Lohri ka prakash, aap ki zindagi ko prakashmayi kar de Jaise Jaise lohri ki aag tej ho, vaise vaise hi hamare dukhon ka ant ho.

  • Twinkle twinkle little sardar, oh bhangra paye in da car, punjabi tadka te dalh frai, tuhanu 1 din pehlea LOHRI d lakh lakh vadhai…!!! HAPPY LOHRI.

  • Sardi ki thartharahat mein, moongfali, rewari aur gur ki mithas ke saath, Lohri mubaarak ho pyar, dosti aur rishtey ki garmahat ke saath.

दोस्तो ये कुछ लोहड़ी के लिये Qutoes ओर Wishes Message थे जिनको आप यहां से कॉपी करके अपने दोस्तो के साथ शेयर कर सकते है!

मैं आशा करता हु की आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकरी पसंद आई होगी. अगर आपके पास लोहड़ी की कोई दुसरी जानकारी हो तो आप हमें नीचे Comments में जरूर बताएं!

Howdy, I Am Ravi Sharma Professional Blogger From India. A Writer By Passion. Write On Health & Fitness, Motivation, Productivity, Lifestyle, Hindi Poem & Quotes And Many More Interesting Topics 🙂

Write A Comment